रामगोपाल यादव का कहना कि भाजपा संसद बुलाने से डर रही और मुसलमान भाजपा से भयभीत | इटावा

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

रामगोपाल यादव का कहना कि भाजपा संसद बुलाने से डर रही और मुसलमान भाजपा से भयभीत | इटावा


Sunday, November 19 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

रामगोपाल यादव का कहना कि भाजपा संसद बुलाने से डर रही और मुसलमान भाजपा से भयभीत

सपा के राष्ट्रीय प्रमुख महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव का कहना है कि केंद्र सरकार गुजरात विधानसभा व उत्तर प्रदेश के निकाय चुनाव में हार के भय से संसद सत्र नहीं बुला रही है। संसद जीएसटी सरीखे मुद्दे उठेंगे। सरकार को चुनाव पर इसका व्यापक असर पडऩे का भय सता रहा है। इस समय संसद का सत्र चलना चाहिए था और इसी वजह से इस वर्ष नहीं बुलाया गया। रविवार को पत्रकारों से वार्ता में रामगोपाल ने कहा कि पूरे देश में भाजपा के खिलाफ माहौल है। गुजरात के चुनाव को लेकर भाजपा में बेचैनी है। उसके लिए यह कांटे का चुनाव है। वहां 15 वर्ष भाजपा की सरकार रही है और वोट का अंतर दो फीसद था। इस बार जो अनुमान है वो वोट का अंतर घट जाएगा और भाजपा का 5 फीसद वोट घटने की खबरें आ रही हैं। भाजपा ने पूरी ताकत गुजरात में लगा दी है। निकाय चुनाव में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व उपमुख्यमंत्री के दौरों को लेकर उन्होंने कहा कि यह लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से डरे हुए हैं। इनकी जिम्मेदारी है और हर हाल में इन्हें चुनाव जीतना है। इसलिए ये निकाय चुनाव में भी जगह-जगह जा रहे हैं। 

समाजवादी पार्टी महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष अबू आसिम आजमी का आरोप है कि मोदी और योगी सरकार में अल्पसंख्यकों की बात नहीं सुनी जा रही। भाजपा सरकार में मुस्लिम डरा हुआ है। परेशान जनता को आज भी पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर ही भरोसा है। आजमी रविवार को कानपुर में सपा की महापौर प्रत्याशी माया गुप्ता के समर्थन में विभिन्न स्थानों पर जनसभाएं करने आए थे। दैनिक जागरण से बातचीत में उन्होंने कहा कि मुसलमानों की स्थिति यह है कि गोकशी के आरोप के डर से उन्होंने गाय-बैल पालने के बजाय छोड़ दिए हैं। पहले नीलगाय से समस्या होती थी, अब उप्र में गाय-बैल से परेशानी है। निकाय चुनाव पर बोले कि हमारी लड़ाई सिर्फ भाजपा से है। भाजपा से जनता की उम्मीदें टूट चुकी हैं लेकिन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झूठ बोलने में माहिर हैं। साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सभाओं में जनता नहीं पहुंच रही। पूर्व मुख्यमंत्री एवं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष से मिलने अब भी भीड़ आती है। अयोध्या मुद्दे पर बोले कि कुछ बिकाऊ मुसलमान सहमति पर राम मंदिर निर्माण की बात कह रहे हैं। जब मामला कोर्ट में विचाराधीन है तो चर्चा होनी ही नहीं चाहिए। सहमति के आधार पर मस्जिद भी तो बन सकती है।

 

नवीन समाचार व लेख

बांगरमऊ नगर पालिका परिषद बांगरमऊ में फायर ब्रिगेड के पास करोड़ों रुपए की कीमत जमीन पर अवैध रूप से कब्जा

तहसील उन्नाव,हसनगंज जिला उन्नाव के गांव दाउदपुर में टूनामेंट मैच फाइनल सम्पन हुआ

अलीगढ़,मण्डलायुक्त द्वारा ग्राम रहमतपुर गढ़मई में चकरोड को करायागया अतिक्रमणमुक्त

कानपुर मे दर्द वीडियो में फेसबुक पर दर्ज करने के बाद गंगा नदी में लगा दी छलांग

'आप' को लगा बड़ा झटका, 20 विधायकों की सदस्यता रद, राष्ट्रपति ने दी मंजूरी