काम से इन्कार पर सिपाही ने मजदूर को मारीं गोलियां | फिरोजाबाद

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

काम से इन्कार पर सिपाही ने मजदूर को मारीं गोलियां | फिरोजाबाद


Friday, September 29 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

काम से इन्कार पर सिपाही ने मजदूर को मारीं गोलियां

जसराना (फीरोजाबाद): शराब के नशे में धुत सिपाही ने काम करने से इन्कार करने पर मजदूर पर लाइसेंसी रिवॉल्वर से कई गोलियां दाग दीं। दो गोलियां लगने से वह घायल हो गया। आरोपी सिपाही आगरा जिला पंचायत के पूर्व अपर मुख्य अधिकारी सपा नेता का भाई है। पुलिस ने उसे मय रिवॉल्वर गिरफ्तार कर लिया है। वह आगरा में तैनात बताया गया है।

आगरा जिला पंचायत के पूर्व एएमए सुरेश यादव का भाई और पूर्व ब्लॉक प्रमुख निर्मला यादव का देवर पुष्पेंद्र आगरा सीबीसीआइडी में सिपाही है। इन दिनों वह अपने गांव उतरारा आया हुआ था। शुक्रवार शाम करीब पांच बजे शराब के नशे में 40 वर्षीय फिरोज के घर पहुंचा और उसे अपने घर पर काम करने को कहते हुए जबरन ले जाने लगा। फिरोज के इन्कार करने पर गाली-गलौज की। फिर उस पर चार गोलियां चला दीं। दो गोलियां फिरोज के पैर में लगीं जिससे वह जमीन पर गिर पड़ा। घटना से गांव में दहशत फैल गई। लोग जान बचाने को इधर-उधर जा छिपे।

सूचना पर यूपी-100 की गाड़ी पहुंची और पुष्पेंद्र को मय रिवॉल्वर गिरफ्तार कर लिया। घायल मजदूर को सरकारी ट्रॉमा सेंटर पहुंचाया, जहां से उसे आगरा रेफर कर दिया गया। फिरोज के दोनों गोली पैर में लगी हैं। इंस्पेक्टर अनिल कुमार का कहना है शराब के नशे में पुष्पेंद्र ने गोली मारी है। उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

घायल फिरोज को लेकर पुलिस पहले जसराना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंची, लेकिन वहां डॉक्टर ही नहीं थे। आधा घंटे तक घायल दर्द से तड़पता रहा, बाद में पुलिस उसे सरकारी ट्रॉमा सेंटर लेकर पहुंची।

 

नवीन समाचार व लेख

यूपी लोकसेवा आयोग ने जारी की पीसीएस प्री-2017 की उत्तरकुंजी

पश्चिमी यूपी में अाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ताबड़तोड़ रैलियां

लखनऊ के दौरे पर आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह

नगरीय निकाय चुनाव की दौड़ में उम्रदराज तो पार्षद-सदस्य में युवा आगे

इंडोनेशिया मे मुस्लिम बहुल देश की करेंसी पर शान से अंकित हैं पूजनीय ‘गणपति’