पीसीसी में पारित होने जा रहा राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव | लखनऊ

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

पीसीसी में पारित होने जा रहा राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव | लखनऊ


Wednesday, October 11 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

पीसीसी में पारित होने जा रहा राहुल गांधी को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव

कांग्रेस अध्यक्ष पद पर राहुल गांधी की ताजपोशी का प्रस्ताव गुरुवार को आहूत नवनिर्वाचित पीसीसी (प्रदेश कांग्रेस कमेटी) सदस्यों की बैठक में पारित किया जा सकता है। इसमें प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर के अलावा अन्य वरिष्ठ नेताओं से मौजूद रहने को कहा गया है। यह आवश्यक बैठक कांग्रेस मुख्यालय मेंं दोपहर 12 बजे होगी। सूत्रों के मुताबिक कुल 1238 पीसीसी सदस्य चुने जाने है लेकिन उनका नाम अब तक सार्वजनिक नहीं किया गया था और इसको लेकर उहापोह जैसे हालात बने थे। बुधवार को देर रात तक जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा नवनिर्वाचित पीसीसी सदस्यों को बैठक में शामिल होने का न्यौता देने का काम होता रहा।    

प्रदेश संगठनात्मक चुनाव अधिकारी किशोर उपाध्याय ने बताया कि बैठक में एमए खान और सुरेश शेट्टी भी उपस्थित रहेंगे, जिनकी देखरेख में प्रदेश में संगठनात्मक चुनाव की प्रक्रिया जारी है। बैठक इतनी जल्दबाजी में बुलाई जा रही है कि नवनिर्वाचित पीसीसी सदस्यों की सूची सार्वजनिक नहीं हो सकी तो उनको टेलीफोन के जरिये बुलावा दिया जा रहा है।

करीब छह वर्ष बाद प्रदेश कांग्रेस कमेटी की बैठक विधिवत आयोजित की जा रही है। इससे पहले वाराणसी में मई 2011 में पीसीसी की बैठक हुई थी। गुरुवार को होने वाली बैठक काफी महत्वपूर्ण रहेगी क्योंकि इसमें राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव पारित किया जाएगा। बता दे कि अन्य कई राज्यों मे इस आश्य का प्रस्ताव पारित हो चुका है। लखनऊ में प्रस्ताव पर मुहर लगने के बाद राहुल की ताजपोशी का रास्ता साफ हो जाएगा। 

पीसीसी सदस्यों की सूची सार्वजनिक नहीं है। इसके चलते जिला और शहर अध्यक्षों के नामों की घोषणा भी लटकी है जबकि तय कार्यक्रम के अनुसार गत 25 सितंबर तक जिला व शहर कमेटियों का गठन पूरा हो जाना चाहिए था। इसके बाद 15 अक्टूबर तक प्रदेश अध्यक्ष के निर्वाचन की प्रक्रिया पूरी होनी थी। सूत्र बताते है कि राहुल गांधी को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाए जाने के बाद ही प्रदेश कमेटी का गठन हो पाएगा।

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने कहा कि आरएसएस की खुद की कोई संस्कृति नहीं है। वे देश सेवक होने की बात करते हैं, लेकिन, उनके विचार महात्मा गांधी, पंडित नेहरू, चंद्रशेखर आजाद, शहीद भगत सिंह, अशफाक उल्ला खां जैसे महान देशभक्तों से नहीं मिलते। राजबब्बर बरेली  में पूर्व प्रधानमंत्री और भारत रत्न इंदिरा गांधी के जन्मशताब्दी स्मरणोत्सव को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने इंदिरा गांधी को याद करते हुए कहा कि वह जवाहर लाल नेहरू को जेल में और अस्पताल में भर्ती मां को देखते हुए बड़ी हुई थीं। जब सत्ता में आईं तो उन्हें मोम की गुडिय़ा कहा गया था। लेकिन फैसलों ने उन्हें आयरन लेडी साबित किया। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी जब गुजरात के तीन दिवसीय दौरे पर गए तो पूरी भाजपा हिल गई। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को अमेठी जाना पड़ गया। मंचासीन राज्यसभा सांसद डॉ.संजय सिंह, पूर्व मंत्री जितिन प्रसाद, उत्तराखंड और मध्य प्रदेश प्रभारी संजय कपूर ने भी अपने संबोधन में भाजपा पर निशाना साधा।

 

नवीन समाचार व लेख

राजस्थान विधानसभा के चुनाव अभी दूर,लेकिन मुख्यमंत्री पद को लेकर कांग्रेस में अभी से वकालात

इलाहाबाद में शुरू हुवास्वच्छ भारत मिशन नहीं होगा खुले में शौच

ईपीएफओ ने शुरू की नई सर्विस, UAN को आधार से करें ऑनलाइन लिंक

बैंक खाते को आधार से जोड़ने का फैसला सरकार का रिजर्व बैंक की कोई भूमिका नहीं

योगी सरकार की ओर से जारी साल 2018 के लिए कलैंडर में मिली ताजमहल को जगह