लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर यातायात बंद आज से उड़ान भरने का अभ्यास करेंगे | लखनऊ

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर यातायात बंद आज से उड़ान भरने का अभ्यास करेंगे | लखनऊ


Saturday, October 21 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर यातायात बंद आज से उड़ान भरने का अभ्यास करेंगे

दीपावली की छुट्टियों के बाद लखनऊ से आगरा होकर सड़क मार्ग से नई दिल्ली जाने वालों को वैकल्पिक मार्ग की तलाश करनी होगी। आज से आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर यातायात को रोक दिया गया है। सुरक्षा कारणों से ऐसा किया गया है। इस एक्सप्रेस-वे पर 24 को वायुसेना के 20 विमान अभ्यास करेंगे। 

आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर वायुसेना के विमान आज से पांच दिन तक उतरने और उड़ान भरने का अभ्यास करेंगे। इस अभ्यास के बाद 24 अक्टूबर को दिन में दस बजे से तीन घंटे का प्रदर्शन होगा। जिसमें 16 फाइटर प्लेन तथा दो माल वाहक विमानों को उतारा जाएगा। जिसकी तैयारियों के चलते आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे आज से बंद कर दिया गया है।

इस बार वायुसेना के कुल 20 विमान एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। इस बार की खासियत यह है कि पहली बार यहां वायुसेना के परिवहन विमान एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। बीते वर्ष इसके उद्घाटन के मौके पर आठ लड़ाकू जेट विमान इस पर उतरे थे और तत्काल उड़ान भरी थी।

लखनऊ के आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर वायुसेना के विमान उतरने और उड़ान भरने का अभ्यास करेंगे। 20 विमानों का यह अभ्यास 24 अक्टूबर तक जारी रहेगा। वैसे तो यह अभ्यास बीते वर्ष इसके उद्घाटन के दौरान भी हो चुका है लेकिन इस बार परिवहन विमान (एएन 32) भी एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। इस बार छह सुखोई-30, छह मिराज व चार जगुआर फाइटर प्लेन के साथ ही दो हरक्युलिस ग्लोब मास्टर्स-2 तथा दो एएन-32 मालवाहक जहाज भी लैंड तथा टेक ऑफ करेंगे। इनके इस अभ्यास के मद्देनजर आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे के कुछ हिस्सों में 20 अक्टूबर से 24 अक्टूबर तक यातायात बंद रहेगा।

रक्षा मंत्रालय (सेंट्रल कमांड) की जनसंपर्क अधिकारी गार्गी मलिक सिन्हा ने बताया कि भारतीय वायुसेना की टीम आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे उन्नाव जिले के निकट एयर स्ट्रिप पर उतरने और उड़ान भरने का अभ्यास करेगी। इस अभ्यास में भारतीय वायुसेना के 20 विमान हिस्सा लेंगे, जिसमें लड़ाकू और परिवहन विमान शामिल होंगे। इनमें मिराज 2000, जगुआर, सुखोई 30 और एएन-32 परिवहन विमान शामिल होंगे। इसके उतरने और उड़ान भरने का मुख्य अभ्यास 24 अक्टूबर को सुबह 10 बजे से होगा।  

बीते वर्ष जब लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस वे का उद्घाटन हुआ था, तब भी इस पर विमानों ने उतरने व  उड़ान भरने का अभ्यास किया था। इस बार की खासियत यह है कि पहली बार यहां वायुसेना के परिवहन विमान इस एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। पिछले साल इस एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के मौके पर आठ लड़ाकू जेट विमान इस पर उतरे थे और उड़ान भरी थी। पहली बार परिवहन विमान इस एक्सप्रेस-वे पर उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। एएन 32 विमान 'ह्यूमैनेटिरियन असिस्टेंट एंड डिजास्टर रिलीफ' के लिए होते हैं। इसका मतलब यह है कि बाढ़ या किसी अन्य आपदा की स्थिति उत्पन्न होने पर ये विमान भारी मात्रा में राहत सामग्री लेकर यहां आ सकते है। इसके अलावा किसी आपदा के समय अधिक लोगों को यहां से कहीं और ले जाना है तो विमान उसमें मदद करते हैं।

युद्ध जैसी आपात स्थिति में सड़कों पर ही विमान उतारने और उड़ान भरने के लिए पायलटों को तैयार करने के लिए यह अभ्यास किया जा रहा है। 24 अक्तूबर को परिवहन विमान के अलावा लड़ाकू जेट भी उतरेंगे और उड़ान भरेंगे। 

त्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीईआइडीए) के अनुसार आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर उन्नाव की हवाई पट्टी पर 24 अक्टूबर को भारतीय वायुसेना के फ्लाइंग अभ्यास के मद्देनजर 20 से 24 अक्टूबर तक एक्सप्रेस-वे के उन्नाव स्थित अरौल से लखनऊ के बीच यातायात प्रतिबंधित रहेगा। इस दौरान आगरा से लखनऊ की ओर आने वाले वाहन अरौल (जनपद कानपुर) में एक्सप्रेस-वे से उतरने के पश्चात छह किलोमीटर कानपुर की ओर चलकर, बायीं ओर बिल्लौर-बांगरमऊ मार्ग पर मुड़ेंगे और इस मार्ग से बांगरमऊ पहुंचेंगे तथा बांगरमऊ से मियागंज, हसनगंज एवं मोहान होते हुए लखनऊ पहुंचेंगे। लखनऊ से आगरा जाने वाले वाहन भी इसी परिवर्तित मार्ग का अनुसरण करेंगे।

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के अनुसार अरौल इंटरचेंज से बिल्लौर-बांगरमऊ मार्ग मोड़ तक की दूरी छह किलोमीटर, बिल्लौर-बांगरमऊ मार्ग होते हुए बांगरमऊ तक की दूरी 23 किलोमीटर तथा बांगरमऊ से मियागंज-हसनगंज-मोहान होते हुए लखनऊ तक की दूरी 68 किलोमीटर है। 

इस दौरान कानपुर के अरौल इंटरचेंज से लखनऊ के बीच ट्रैफिक पूरा बंद रहेगा। करीब 60 किलोमीटर का रास्ता बंद होने के कारण एक्सप्रेस-वे से आने वाले मुसाफिरों को अधिक समय लग सकता है। 

अभ्यास के कारण करीब पांच दिन तक बंद रहने वाले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर वाहन वाहन अरौल (जनपद कानपुर) में एक्सप्रेस-वे से उतरने के पश्चात छह किलोमीटर कानपुर की ओर चलकर, बायीं ओर बिल्लौर-बांगरमऊ मार्ग पर मुड़ेंगे और इस मार्ग से बांगरमऊ पहुंचेंगे तथा बांगरमऊ से मियागंज, हसनगंज एवं मोहान होते हुए लखनऊ पहुंचेंगे।  लखनऊ से आगरा जाने वाले वाहन भी इसी परिवर्तित मार्ग का पूरी तरह अनुसरण करेंगे।

एक्सप्रेस वे आंशिक तौर पर बंद होने पर आप इन वैकल्पिक रास्तों का इस्तेमाल कर सकते हैं। कानपुर से लखनऊ के बीच एक्सप्रेस-वे पर ट्रैफिक बंद होने से एक्सप्रेस-वे पर आने वालों के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। आगरा से आने वाले वाहन कानपुर के अरौल में एक्सप्रेस-वे से नीचे उतर जाएंगे। इसके बाद यहां से गाडिय़ां कानपुर की ओर 6 किलोमीटर चलेंगी। बायीं ओर बिल्हौर-बांगरमऊ मार्ग पर मुडऩे के बाद बांगरमऊ पहुंचा जा सकेगा। अरौल इण्टरचेन्ज (कानपुर) से लखनऊ के बीच आगरा से लखनऊ की ओर आने वाले वाहन अरौल ( कानपुर) में एक्सप्रेस-वे से उतरने के बाद 6 किमी कानपुर की ओर चलकर बायीं ओर बिल्लौर-बांगरमऊ मार्ग पर मुड़ेंगे व इस मार्ग से बांगरमऊ पहुंचेंगे तथा बांगरमऊ से मियागंज, हसनगंज व मोहान होते हुए लखनऊ पहुंचेंगे।

 

नवीन समाचार व लेख

यूपी लोकसेवा आयोग ने जारी की पीसीएस प्री-2017 की उत्तरकुंजी

पश्चिमी यूपी में अाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ताबड़तोड़ रैलियां

लखनऊ के दौरे पर आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह

नगरीय निकाय चुनाव की दौड़ में उम्रदराज तो पार्षद-सदस्य में युवा आगे

इंडोनेशिया मे मुस्लिम बहुल देश की करेंसी पर शान से अंकित हैं पूजनीय ‘गणपति’