यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

निकाय चुनाव शांतिपूर्ण कराने के लिये बनी रणनीति, 40 कंपनी अर्द्धसैनिक बल | लखनऊ


Tuesday, November 14 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

निकाय चुनाव शांतिपूर्ण कराने के लिये बनी रणनीति, 40 कंपनी अर्द्धसैनिक बल

 निकाय चुनाव में शांतिपूर्ण मतदान के लिए पुलिस-प्रशासन ने कमर कस ली है। इसके लिए अपराधियों से लेकर अवांछित तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की गई है। साथ ही संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर सुरक्षा की खास रणनीति बनाई गई है। चुनाव के दौरान प्रदेश में 20 नवंबर से पांच दिसंबर के मध्य 40 कंपनी अर्द्धसैनिक बल मौजूद रहेगा। एडीजी कानून-व्यवस्था आनन्द कुमार के मुताबिक चुनाव के दौरान बूथों व सेंटर पर पुलिस-पीएसी के जवाब व होमगार्ड मुस्तैद रहेंगे, जबकि अर्द्धसैनिक बल के जवाब कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए मुस्तैद किए जाएंगे। साम्प्रदायिकता के लिहाज से संवेदनशील इलाकों में भी उन्हें तैनात किया जाएगा।

एडीजी ने मंगलवार को निकाय चुनाव के लिए अब तक की गई पुलिस कार्रवाई व तैयारियों का ब्योरा साझा किया। उन्होंने बताया कि निकाय चुनाव के दौरान अधिकतम व्यय सीमा की निगरानी के लिए दो लाख रुपये से अधिक रकम लेकर चलने वालों को चेकिंग में संबंधित रकम का ब्योरा देना होगा। संतोषजनक उत्तर न देने वालों के खिलाफ रकम जब्त कर विधिक कार्रवाई की जाएगी। इसकी सूचना आयकर विभाग को दी जाएगी। चेकिंग के लिए 626 उडऩ दस्ते बनाए गए हैं। हर दस्ते में एक कार्यकारी मजिस्ट्रेट व उपनिरीक्षक शामिल होगा। आचार संहिता के उल्लंघन के तीन मामलों में पीलीभीत में पुलिस रिपोर्ट भी दर्ज करा चुकी है। एडीजी ने बताया कि प्रदेश में कुल 11244 मतदान केंद्रों में मतदेय स्थलों की संख्या 36302 है। इनमें संवेदनशील मतदेय स्थल 4462 हैं, जबकि 3296 ऐसे मतदेय स्थलों को चिह्नित किया गया है, जहां अतिरिक्त सुरक्षा-व्यवस्था के लिए सभी जिलों के एसएसपी/एसपी को निर्देश दिए गए हैं। इन सभी स्थानों पर संवेदनशीलता को कम करने के निर्देश दिए गए हैं। ताकि इनकी संख्या 10 फीसद से ज्यादा न हो। चयनित संवेदनशील मतदान केंद्रों पर जरूर के अनुरूप अधिक पुलिस बल तैनात करने के साथ सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाने, वीडियो रिकार्डिंग की व्यवस्था किए जाने के साथ ही वेब कास्टिंग के प्रबंध किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। अब तक चुनाव आचार संहिता लागू होने के बाद चुनाव संबंधी अपराध के 244 मुकदमे पंजीकृत कराए गए हैं। 

  • पुलिस ने 11 अक्टूबर से प्रदेश में चलाए गए अभियान के तहत 12 नवंबर तक 2362 अवैध असलहों के साथ 2275 आरोपितों को गिरफ्तार किया। 3873 अवैध कारतूस व 6411 देशी बम बरामद किए।
  • पुलिस ने तस्करी कर लाई जा रही 114726 लीटर अंग्रेजी व 191492 लीटर अवैध देशी शराब बरामद की है। इनमे 8606 आरोपितों को गिरफ्तार कर 187 वाहन जब्त किए गए। 1423 चेक पोस्टों पर बैरियर चेकिंग के दौरान पुलिस ने भारी संख्या में अवैध शराब व मादक पदार्थ बरामद किए। 
  • प्रदेश में उपलब्ध 1088003 लाइसेंसी शस्त्रों में पुलिस ने निकाय चुनाव के दृष्टिगत नगरीय क्षेत्र व उनकी सीमा से 10 किलोमीटर के रेडियस में रहने वाले 202686 शस्त्र धारकों के लाइसेंसी असलहे जमा कराए गए हैं। इस परिधि में जमा कराए जाने वाले लाइसेंसी शस्त्रों की कुल संख्या 585335 है। स्क्रीनिंग कमेटी ने 79345 लाइसेंसी शस्त्रों को जमा न कराए जाने की छूट दी है। अब 303304 लाइसेंसी शस्त्र और जमा कराए जाने हैं।
  • ड्रोन कैमरों से मतदान केंद्रों की निगरानी की जाएगी। इसके लिए जिलों में 29 ड्रोन कैमरे उपलब्ध हैं, जबकि निजी कंपनियों से 54 ड्रोन कैमरे किराये पर बुक कराए गए हैं।
  • सभी जिलों में मतदान से पूर्व, मतदान के दिन व मतदान के पश्चात हारे-जीते प्रत्याशियों में होने वाले संभावित विवादों में यूपी 100 व वीमेन पावर लाइन (1090) सेवा के उपयोग के लिए स्थायी आदेश दिए गए हैं।

 

नवीन समाचार व लेख

निकाय चुनाव शांतिपूर्ण कराने के लिये बनी रणनीति, 40 कंपनी अर्द्धसैनिक बल

नगरीय निकाय चुनाव के तूफानी दौरे में मुख्यमंत्री योगी के अभियान में कुछ संशोधन

वाराणसी व आगरा में पर्यटन को गंगा-यमुना में उतरेंगे आठ सीटों वाले उडऩखटोले

इंदिरागांधी जन्म सताब्दी समारोह

नेहरू जी का जन्मदिन बाल दिवस के रूप में मनाया गया