यशवंत सिन्हा और अरुण जेटली के झगड़े के बीच कांग्रेस का तंज- हम तो डूबेंगे सनम तुमको भी ले डूबेंगे | नयी दिल्ली

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

यशवंत सिन्हा और अरुण जेटली के झगड़े के बीच कांग्रेस का तंज- हम तो डूबेंगे सनम तुमको भी ले डूबेंगे | नयी दिल्ली


Friday, September 29 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

यशवंत सिन्हा और अरुण जेटली के झगड़े के बीच कांग्रेस का तंज- हम तो डूबेंगे सनम तुमको भी ले डूबेंगे

नई दिल्ली: यशवंत सिन्हा और अरुण जेटली के बीच जुबानी जंग जारी है. पहले यशवंत सिन्हा ने लेख लिखकर और फिर मीडिया के सामने आकर देश की खस्ताहाल अर्थव्यवस्था के लिए जेटली को आड़े हाथों लिया. फिर जेटली ने यशवंत सिन्हा पर पलटवार किया और नाम लिए बग़ैर कहा कि वो 80 की उम्र में नौकरी ढूंढ रहे हैं. अब यशवंत सिन्हा ने एक बार फिर अरुण जेटली के इस वार पर पलटवार किया है. इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में यशवंत सिन्हा ने कहा कि अगर मैं नौकरी ढूंढ रहा होता तो जेटली यहां नहीं होते.

इस बीच कांग्रेस ने भी अरुण जेटली पर निशाना साधा है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए सही क़दम उठाइए वरना आप पूर्व वित्त मंत्री बन जाने वाले हैं. हम तो डूबेंगे सनम तुमको भी ले डूबेंगे. ये जेटली और पीएम की जोड़ी पर बिल्कुल सटीक लागू होता है, क्योंकि 'मोदीनोमिक्स और जेटलीनोमिक्स' जुमले बाजी से ज्यादा कुछ भी नहीं है. पीएम अहंकार में हैं और उनके वित्तमंत्री एक एक्सपेरिमेंटल वित्तमंत्री हैं. उन्हें वित्तमंत्री की चिंता कम और मीडिया की चिंता ज्यादा रहती है. अहंकारी पीएम और नए तजुर्बेकार वित्तमंत्री ने इस देश की इकोनॉमी पर ताला लगा दिया है. सही कदम उठाए नहीं तो आप पूर्व वित्तमंत्री बन जाएंगे.इससे पहले यशवंत सिन्हा ने अरुण जेटली पर निशाना साधते हुए कहा कि वो कह रहे हैं कि मैं निजी हमले कर रहा हूं, लेकिन ये सही नहीं है. अर्थव्यवस्था से जुड़ी कोई बात होगी तो उसके लिए वित्त मंत्री ही ज़िम्मेदार होंगे, गृह मंत्री नहीं.  सरकार स्थिति को समझने में पूरी तरह असफल है. समस्या को सुलझाने की बजाय खुद की पीठ थपथपाने में लगी है. बेटे और केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा के जवाब पर यशवंत सिन्हा ने कहा कि मेरे बेटे जयंत सिन्हा को मेरे ही खिलाफ उतारकर सरकार मुद्दे से ध्यान भटकाने की कोशिश कर रही है. मैं भी निजी हमले कर सकता हूं, लेकिन उनके जाल में फंसना नहीं चाहता.

 

नवीन समाचार व लेख

रूमा बरँदेव के मन्दिर मे ट्रकों का ठहराव देता है मौत की दावत ।

दूल्हा हुआ फरार दुल्हन करती रही बरात का इंतजार ।

मामूली विवाद पर दबंगों ने युवक पर धारदार हथियार से हमला ,गम्भीर

कैबिनेट बैठक एक दिन बाद नगर निकाय शपथ ग्रहण के चलते टली

रायबरेली के रहने वाले एक व्यक्ति के समस्या दूर न करने पर जैन क्लीनिक पर जुर्माना