बैंक खाते को आधार से जोड़ने का फैसला सरकार का रिजर्व बैंक की कोई भूमिका नहीं | विशेष

यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

बैंक खाते को आधार से जोड़ने का फैसला सरकार का रिजर्व बैंक की कोई भूमिका नहीं | विशेष


Saturday, October 21 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

बैंक खाते को आधार से जोड़ने का फैसला सरकार का रिजर्व बैंक की कोई भूमिका नहीं

बैंक खाते को आधार से लिंक करने को जरूरी बनाए जाने की खबरों के बीच रिजर्व बैंक ने यह खुलासा किया है कि उसने अब तक इस तरह का कोई आदेश जारी नहीं किया है। बैंक ने सूचना के अधिकार के तहत दिए एक जवाब में कहा है कि बैंक खाते को आधार से जोड़ने का आदेश केंद्र सरकार का है।

आरटीआई कार्यकर्ता योगेश सपकाले की अर्जी के जवाब में बैंक ने कहा कि केंद्र सरकार ने 1 जून, 2017 को गजट नोटिफिकेशन क्रमांक जीएसआर 538 (ई) जारी किया था। इसमें बैंक खाता खोलने के लिए आधार और पैन कार्ड को अनिवार्य बनाया गया है। इसमें रिजर्व बैंक की कोई भूमिका नहीं है। मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने आधार का इस्तेमाल महज छह योजना तक ही सीमित रखने के लिए कहा है, जबकि केंद्र सरकार ने अपनी 50 योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार अनिवार्य बना दिया है।

ईपीएफ खाते को ‘आधार’ से करें ऑनलाइन लिंक
ईपीएफओ ने अपने सदस्यों को अपने यूनिवर्सल एकाउंट नंबर (यूएएन) को ‘आधार’ से लिंक करने की ऑनलाइन सुविधा शुरू की है। ईपीएफओ की ओर से जारी बयान के अनुसार उसकी वेबसाइट डब्लूडब्लूडब्लू.ईपीएफइंडिया.जीओवी.इन के जरिए ‘आधार’ के अलावा अन्य सूचनाओं को भी ऑनलाइन भरा जा सकता है। इसमें पहले यूएएन देना होगा। इसके बाद सदस्य के मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आएगा। ओटीपी के वेरीफिकेशन के बाद सदस्य को अपना आधार नंबर भरना होगा। इस पर एक ओटीपी और आएगा।

इस ओटीपी के वेरीफिकेशन के बाद यदि यूएएन का विवरण आधार के विवरण के साथ मेल खा गया तो सदस्य का यूएएन उसके आधार नंबर के साथ लिंक हो जाएगा।

 

नवीन समाचार व लेख

यूपी लोकसेवा आयोग ने जारी की पीसीएस प्री-2017 की उत्तरकुंजी

पश्चिमी यूपी में अाज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ताबड़तोड़ रैलियां

लखनऊ के दौरे पर आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह

नगरीय निकाय चुनाव की दौड़ में उम्रदराज तो पार्षद-सदस्य में युवा आगे

इंडोनेशिया मे मुस्लिम बहुल देश की करेंसी पर शान से अंकित हैं पूजनीय ‘गणपति’