यूनाइट फॉर ह्यूमैनिटी हिंदी समाचार पत्र

RNI - UPHIN/2013/55191 (साप्ताहिक)
RNI - UPHIN/2014/57987 (दैनिक)
RNI - UPBIL/2015/65021 (मासिक)
UFH News Wheel

यूपी बोर्ड के रिजल्ट ने ली प्रदेश में तीन मेधावियों की जान | राज्य


Saturday, June 10 2017
Vikram Singh Yadav, Chief Editor ALL INDIA

यूपी बोर्ड के रिजल्ट ने ली प्रदेश में तीन मेधावियों की जान

जाने ये कैसी हड़बड़ाहट थी, कैसा डर था? सिर्फ फेल होने के डर से कानपुर में एक मेधावी छात्रा ने अपनी जान दे दी, मौत के बाद पता चला कि वह तो हाईस्कूल में 75 फीसद अंकों से साथ पास है।इसी  तरह लखीमपुर और शाहजहांपुर में में मेधावी बच्चों ने अपनी जान दे दी।   

कानपुर के दर्शनपुरवा में रहने वाले इंद्रपाल सिंह की बड़ी बेटी एकता उर्फ जाह्न्वी हाईस्कूल की छात्र थी। गुरुवार देर शाम उसने फेल होने के डर से फांसी लगा ली। बहन महक और स्नेहा ने फंदे पर लटकता देखकर शोर मचाया तो परिजन उसे उतारकर एलएलआर अस्पताल लाए, जहां देर रात उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। शुक्रवार दोपहर जब परीक्षा परिणाम आया तो पता चला कि वह 75 फीसद अंकों से पास हुई है। मां सीमा और दादी विमला बदहवास हो गईं।परिजनों को इस बात का मलाल है कि अच्छे नंबरों से पास होने के बाद भी उसे फेल होने का इतना डर क्यों सताया कि उसने जान दे दी। मां सीमा रोते हुए बोली अब वह इतने अच्छे रिजल्ट का क्या करें, जिसने उनकी बेटी ही छीन ली।

लखीमपुर में बोर्ड का रिजल्ट हजारों परिवारों में खुशी तो नैनापुर गांव में मातम लेकर आया | इंटर की परीक्षा में फेल हुए यहां के निवासी शत्रोहन के 15 वर्षीय पुत्र अतुल ने फांसी लगाकर जान दे दी | रात नौ बजे घटी इस घटना से गांव में कोहराम मच गया | अतुल कफारा के रफी अहमद उस्मानी इंटर कालेज में कक्षा 12 का छात्र था | पढाई में तेज माने जाने वाले अतुल के व्यवहार की भी पूरा गांव तारीफ़ करता है | लेकिन शुक्रवार को जब बोर्ड के रिजल्ट घोषित हुए तो अतुल के परीक्षा परिणाम ने उसे गहरी निराशा में ढकेल दिया | परीक्षा में फ़ेल हुआ अतुल रिजल्ट देखने के बाद से लगातार परेशान था|

हलांकि परिजनो ने उसे फ़ेल होने के लिए कोई उलाहना भी नहीं दिया था| रात करीब आठ बजे वह घर से निकला तो परिजनों ने समझा कि वह अपने दोस्तों के साथ होगा | काफ़ी देर ना लौटने पर तलाश शुरू हुई तो अतुल का शव घर के पास ही कटहल के पेड़ से लटकता मिला | इसके बाद बदहवास हुए परिजनों ने जैसे तैसे शव को उतारा | किसी ने मीडिया से जुडे लोगों को खबर दी तो यह सूचना पुलिस तक पहुंची| देर रात कफारा चौकी पुलिस भी मौके पर गई थी|

शाहजहांपुर में हाईस्कूल में फेल होने के बाद एक छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। बताया जा रहा है कि छात्र चार सब्जेक्ट मे फेल हो गया था। छात्र ने फेल होने की सूचना मां को दी और उसके बाद फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। कोतवाली क्षेत्र के अजीजगंज मोहल्ला निवासी अजय पाल फल बेचने का काम करते हैं। अजय का दूसरा बेटा सौरभ ने स्वामी विवेकानंद इंटर कॉलेज से हाईस्कूल का प्राईवेट फार्म भरा था। सौरभ को उम्मीद थी कि वह पास हो जाएगा। लेकिन जब रिजल्ट आया तो सौरभ चार सब्जेक्ट में फेल था। इसके बाद उसने यह सूचना मां और बहन को दी।

सौरभ के चाचा ने बताया कि मां और बहन ने सौरभ से कहा कि कोई बात नहीं इस बार पास नहीं हुआ थो क्या अगली बार हो जाएगा। लेकिन फेल होने से सौरभ इतना मायूस था कि वह मां को बाय बोलकर अपनी बाइक लेकर निकल गया। इसके बाद फांसी लगा ली।काफी देर तक जब सौरभ नहीं लौटा तो परिजन उसकी तलाश में निकले तो खाली मकान के बाहर उसकी बाईक खड़ी थी। घर में जाकर देखा तो सौरभ फांसी के फंदे पर झूल रहा था। सौरभ की आत्महत्या से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

 

नवीन समाचार व लेख

यातायात माह के दौरान पटेल नगर चौरे पर नुक्कड़ नाटक का अयुजन किया गया

खनन मंत्री को मिली जमानत

लखीमपुर खीरी एलआरपी पुलिस चौकी के निकट बदमाशों ने बोला धावा

कारोबारी के बेटे का अपहरण, 20 लाख रुपये फिरौती मांगी

हमीरपुर के राठ तहसील में अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा ने किया पद्मावती फिल्म का विरोध भंसाली पर केस दर्ज करके फिल्म बैन करने की मांग पर अड़े